Khabar Aajkal

कोलकाता:-केंद्र ने पूर्व मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को एक बार फिर बुलाया दिल्ली।
Spread the love

कोलकाता:-केंद्र ने पूर्व मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को एक बार फिर बुलाया दिल्ली।

अलपन बंदोपाध्याय के रिटार्टमेंट लेने के बाद भी खत्म होती दिख नहीं रही है। केंद्र सरकोर ने सोमवार को रियार हुए पश्चिम  बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को मंगलवार कोसुबह 10 बजे कार्मिट मंत्रालय में रिपोर्ट करने लिए रिमाइंडर लेटर भेजा है। और अगर ऐसा नहीं करने पर उनके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।  

बता दे की जानकारी के अनुसार यह रिमाइंडर लेकर तब भेजा गया जब बंदोपाध्याय मंत्रालय के पिछले आदेश पर सोमवार को यहां नहीं पहुंचे।

एवं इससे पहले सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव अलपन बंधोपाध्याय को अवकाश ग्रहण करने की अनुमति देने के बाद तीन साल के लिए सलाहकार नियक्त कर रही है। 
 
वहीं, पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को दिल्ली बुलाने के केंद्र के आदेश को ‘असंवैधानिक’ करार देते हुए राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर यह आदेश वापस लेने का अनुरोध किया है। बनर्जी ने यह भी कहा कि उनकी सरकार बंदोपाध्याय को कार्यमुक्त नहीं कर रही है।

ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री को भेजे पांच पन्नों के पत्र में , मुख्य सचिव को तीन माह का सेवा विस्तार दिए जाने के बाद, उन्हें वापस बुलाने के केंद्र सरकार के फैसले पर पुन:विचार करने का अनुरोध किया है।

गौरतलब है कि उन्होंने पत्र में कहा है ‘‘पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव को दिल्ली बुलाने के एकतरफा आदेश से स्तब्ध और हैरान हूं। यह एकतरफा आदेश कानून की कसौटी पर खरा नहीं उतरने वाला, ऐतिहासिक रूप से अभूतपूर्व तथा पूरी तरह से असंवैधानिक है।’’

पांच पन्नों के पत्र में ममता बनर्जी ने लिखा, ‘‘पश्चिम बंगाल सरकार इस गंभीर समय में मुख्य सचिव को कार्यमुक्त नहीं कर सकती, ना ही उन्हें कार्यमुक्त कर रही है।’’


Spread the love
News cordinator and Advisor at Khabar Aajkal Siliguri

Related Articles

Like Us on Facebook, It's Free 😉