Khabar Aajkal

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में आतंकवादियों ने पार्षद और सुरक्षाकर्मी की गोली मार कर की हत्या।
Spread the love

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में आतंकवादियों ने पार्षद और सुरक्षाकर्मी की गोली मार कर की हत्या।

जम्मू कश्मीर में शांति और अमन चैन आतंकियों को रास नहीं आ रहा है। आतंकी घाटी में आए दिन हमले की साजिश करते आए हैं, अब आतंकियों ने सोपोर में पार्षदों की बैठक पर हमला कर दिया। आतंकी हमले में एक जवान शहीद हो गए जबकि निगम पार्षद रियाज अहमद की मौत हो गई।

घाटी का सोपोर आज फिर आतंकी वारदात से दहल उठा, दोपहर 2 बजे के करीब जब जम्मू-कश्मीर में बारामुला जिले के सोपोर क्षेत्र के डाक बंगला में पार्षदों की अहम बैठक चल रही थी, तभी दहशतगर्द आतंकियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी और सामने बैठे पाषदों पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई गईं। इस आतंकी हमले में जम्मु कश्मीर पुलिस के एसपीओ शफ्कत अहमद शहीद हो गए और निगम के पार्षद रियाज़ अहमद की मौत हुई है। साथ ही पार्षद शमसुद्दीन पीर घायल हो गए हैं जिन्हें आनन फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया, इस आतंकी हमले के बाद सुरक्षाबलों का सर्च ऑपरेशन अब भी जारी है । 

इस आतंकी हमले के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया है ,सर्च ऑपरेशन चप्पे चप्पे पर चलाया जा रहा है। भारतीय सेना, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस सोपोर में ज्वाइंट ऑपरेशन चला रही है ताकि एक भी आतंकी बच न पाए ।

सोपोर निगम के पार्षदों पर हुए आतंकी हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन द रेसिंस्टेंस फोर्स टीआरएफ ने ली है। घाटी में टीआरएफ जैसा आतंकी संगठन पिछले एक साल से तेज़ी से पैर पसारता जा रहा है । जानकार कहते हैं कि आतंकियों की ये साजिश घाटी में राजनीतिक अस्थिरता को बनाए रखना है साथ ही निशाने पर डीडीसी की चेयरमैन फरीदा खान थीं । 
अनिल गुप्ता ने कहा कि डीडीसी के चेयरमैन को निशाना बनाना से इनका मकसद राजनीतिक अस्थिरता फैलाना है। फिलहाल सोपोर से जुड़े सभी नाके बंद कर दिए गए हैं। सुरक्षाबलों की निगाह चप्पे चप्पे पर है और इस आतंकी हमले में शामिल 2 आंतकियों की तलाश तेज़ कर दी गई है, जल्द ही ऑपरेशन ऑल आऊट के ज़रिए आतंकियों को पकड़ा जा सकेगा और पार्षदों को निशाना बनाने वाली साजिश का पर्दाफाश होगा ।

–(MS)


Spread the love
News cordinator and Advisor at Khabar Aajkal Siliguri

Related Articles